बुधवार 29 मार्च 2017  

Home / Jante Rahoo / ये खबर जरुरी है! पुलिस का गाड़ी से चाबी निकालना सही या गलत.?

ये खबर जरुरी है! पुलिस का गाड़ी से चाबी निकालना सही या गलत.?

आप अपने दो पहिया वाहन से किसी चेकिंग प्वॉइंट के सामने से गुजर रहे हैं। इसी समय कोई पुलिसकर्मी आपको चेकिंग के लिए रोकने के लिए हाथ पकड़ता है या फिर चलती गाड़ी से चाबी खींचने का प्रयास करता है। तो यह गलत है। जिसकी आप शिकायत भी कर सकते हैं।

हम आपको बताएंगे कि वाहन चलाते समय क्या हैं आपके अधिकार। सामान्य परिस्थितियों में ट्रैफिक पुलिस को सिर्फ इतना ही अधिकार है कि वह आपको इशारा कर रोक सकते हैं। इसके अलावा वह किसी भी तरह आपसे जबरदस्ती नहीं कर सकते।

शहर में वाहन चलाने वालों के लिए जब भी यातायात नियमों के पालन की बात होती है तो चालान की बात होती है। पर कुछ नियम ऐसे भी होते हैं जो वाहन चालकों की मदद के लिए होते हैं। इन नियमों की जानकारी भी वाहन चालकों को उतनी ही होना जरूरी है जितना कि चालान की राशि। सड़कों पर आप वाहन चला रहे हैं तो सबसे ज्यादा विवाद पुलिस के चलती गाड़ी से जबरन चाबी खींचना या हाथ पकड़कर रोकने की घटनाओं पर होते है। जिससे वाहन चालक दुघर्टना ग्रस्त भी हो सकता है।

ऐसा नहीं कर सकती पुलिस-
-> चलती गाड़ी से चाबी खींचकर आपको नहीं रोक सकती।
-> सामने से आते वाहन को रोकने के लिए चलते वाहन पर चालक का हाथ नहीं पकड़ सकती।
-> चार पहिया वाहन के सामने अचानक बैरीकेड्स नहीं लगा सकती।

कर सकते हैं शिकायत-
यदि सड़क पर चाबी खींचकर या दबाव देकर पुलिस जवान या ट्रैफिक वार्डन आपको रोकते हैं तो वाहन चालक के पास अधिकार होता है कि वह वरिष्ठ अधिकारियों से उनकी शिकायत कर सकते हैं।

हेलमेट पर सिर्फ 250 रुपए चालान-
शहर में यातायात पुलिस का सबसे ज्यादा ध्यान बिना हेलमेट वाहन चलाने वालों पर रहता है। जिस पर पुलिस सबसे ज्यादा कार्रवाई करती है। पिछले दो साल में बिना हेलमेट वाहन चलाने वालों पर पुलिस लगातार कार्रवाई करती है। पर क्या आप जानते हैं कि प्रदेश में बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन चलाते पकड़े जाने पर 250 रुपए का चालान पुलिस करती है। यदि कोई पुलिसकर्मी हेलमेट न होने पर इससे ज्यादा का जुर्माना भरने के लिए कहता है तो तत्काल आप वरिष्ठ अधिकारी को सूचित कर सकते हैं।

चालान बनाने का अधिकार किसे-
शहर में अक्सर देखा होगा कि सिपाही या हवलदार या असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर स्तर के पुलिसकर्मी हाथ में चालान का कट्टा लेकर कार्रवाई करते रहते हैं। पर यहां भी आपको अपने अधिकारों को जानना जरूरी है। यदि किसी भी चेकिंग प्वॉइंट पर सब इंस्पेक्टर या उससे ऊपर का अधिकारी आप पर चालान करता है तो यह ठीक है।

पर सब इस्पेक्टर से नीचे की रैंक के पुलिसकर्मी कहीं भी चालान नहीं काट सकते हैं। इसलिए जरूरी होता है कि ऐसे चेकिंग प्वाइंट जहां पर ट्रैफिक पुलिस वाहन चालकों को यातायात के नियम पूरे न करने पर चालान की कार्रवाई कर रही है। वहां इंचार्ज में सब इंस्पेक्टर या उससे ऊंची रैंक के अधिकारी का होना जरूरी है।