UA-70118255-1
गुरुवार 19 जनवरी 2017  

Home / State / Delhi / सुरक्षा के लिए महिलाएं रख सकती है चाकू

सुरक्षा के लिए महिलाएं रख सकती है चाकू

नई दिल्ली। लाइटर और माचिस को दिल्ली मेट्रो यात्रा में प्रतिबंधित वस्तुओं की सूची से हटा दिया गया है। इसके साथ ही महिलाएं अब आत्म-सुरक्षा के लिए चार इंच तक का छोटा चाकू साथ लेकर चल सकती हैं।

यह फैसला केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने लिया है। एक अधिकारी ने कहा शास्त्री पार्क के डिपो में हजारों की तादात में ये चीजें जमा हो गई हैं। उन्होंने कहा कि कभी आइटम की गिनती नहीं की गई है। मगर, वर्तमान में विभिन्न स्टेशनों पर करीब 100 लाइटर और माचिस रोजाना जब्त की जाती हैं।

सीआईएसएफ के एक अधिकारी ने कहा कि इसके अलावा प्रति यात्रियों को टूल्स ले जाने के लिए अनुमति भी दे दी गई है। दरअसल, कई मजदूर मेट्रो से यात्रा करते हैं और काम के लिए टूल्स ले जाने के लिए हमसे कई बार अनुरोध किया जाता था। इसे देखते हुए यह फैसला किया गया है।

हालांकि, हम टूल्स की जांच करते हैं और उनकी इंट्री रजिस्टर में करते हैं, ताकि जरूरत पड़ने पर यात्री का पता लगाया जा सके। मेट्रो सेवा ने 10 साल पहले काम करना शुरू किया था। एक अनुमान के अनुसार रोजाना करीब 30 लाख यात्री दिल्ली मेट्रो से सफर करते हैं।

तेज धार चाकू, तलवार, बंदूक, आग्नेयास्त्रों, विस्फोटक सामग्री, ज्वलनशील वस्तुओं, खतरनाक रसायनों और शराब की बोतलें अभी भी मेट्रो के अंदर प्रतिबंधित 54 आइटम की सूची में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रैक्टिस पूरी दुनिया में अपनाई जाती है, जिसके तहत सामूहिक विनाश का कारण बन सकने वाली चीजों को ले जाने की अनुमति नहीं मिलती है। हमने समीक्षा में पाया कि इन वस्तुओं से यात्रियों की सुरक्षा को खतरा नहीं है।