UA-70118255-1
शनिवार 21 जनवरी 2017  

Home / State / Gujrat / माँ दुर्गा का वरदान! संत ने 75 साल से पानी तक नहीं पिया, डॉ. भी हैरान

माँ दुर्गा का वरदान! संत ने 75 साल से पानी तक नहीं पिया, डॉ. भी हैरान

अहमदाबाद। ‘भूखे पेट भजन ना हो गोपाला…’ वाली बात तो आपने सुनी ही होगी। आमतौर पर ऐसा होता भी है कि खाली पेट किसी का भी काम में मन नहीं लगता है, लेकिन गुजरात में रहने वाले एक साधु का दावा है कि उन्होंने बीते 75 साल से कुछ भी खाया पीया नहीं है। प्रहलाद जानी नाम के इस साधु की उम्र फिलहाल 83 वर्ष है। बाबा जानी गुजरात के ख्यात अंबाजी मंदिर के पास स्थित एक गुफा में रहते हैं।

प्रहलाद जानी का कहना है कि उन्हें दुर्गा माता का वरदान मिला है। उन्होंने बताया कि जब मैं 10-11 साल का था, तब कुछ साधू मेरे पास आए। उन्होंने मुझे साथ चलने के लिए कहा था तो मैंने इनकार कर दिया था। इस घटना के करीब छह महीने बाद देवी जैसी तीन कन्याएं मेरे पास आईं और मेरी जीभ पर अंगुली रखी।

तब से आज तक मुझे न तो प्यास लगती है और न ही भूख लगती। 2010 में भी साधु प्रहलाद जानी के उनके ऊपर 3 कैमरे लगाए गए और 24 घंटे निगरानी रखी गई, लेकिन इसमें कुछ भी संदेहास्पद नहीं पाया गया।

बाबा जानी का कहना है कि कई बार मैं जंगलों में 100-200 किमी तक पैदल चला जाता हूं, इसके बावजूद मुझे कभी भूख प्यास नहीं लगती है। बाबा जानी के इन दावों की जांच के लिए करीब 30 डॉक्टरों की टीम भी गठित की जा चुकी है, जिसने अहमदाबाद के स्टरलिंग अस्पताल में करीब 15 दिनों तक निगरानी की।

तमाम जांच के बाद भी डॉक्टरों को भी कुछ हासिल नहीं हुआ। डॉक्टर खुद भी हैरान है कि उन्हें आखिर जीवित रहने के लिए ऊर्जा कहां से मिलती है। इन जांच प्रक्रियाओं के अगुआ रहे अहमदाबाद के न्यूरॉलॉजिस्ट डॉ. सुधीर शाह ने कहा कि उनका कोई शारीरिक ट्रांसफॉर्मेशन हुआ है।

वे अनजाने में ही बाहर से शक्ति प्राप्त करते हैं। उन्हें कैलरी यानी भोजन की जरुरत नहीं पड़ती। हमने कई दिन तक उनका अवलोकन किया, एक एक सेकंड का वीडियो लिया, उन्होंने न तो कुछ खाया, न पिया, न पेशाब किया और न शौचालय गए।