UA-70118255-1
रविवार 22 जनवरी 2017  

Home / Foreign / पति से नहीं तो! कैसे प्रेग्नेंट हुई 26 महिलाएं.?

पति से नहीं तो! कैसे प्रेग्नेंट हुई 26 महिलाएं.?

एम्सटरडैम। अक्सर हमारे देश में खबरें आतीं है डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से मरीज के पेट में कैंची, रुमाल, सुई या फिर कई बार तो डॉक्टर अपनी घड़ी तक छोड़ देते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि इस तरह की लापरवाही केवल हमारे यहीं हुआ करती हैं बल्कि विदेशी डॉक्टर भी कई बार बड़ी-बड़ी गलतियां कर बैठते हैं।

ताजा मामला सामने आया है नीदरलैंड के एक आइवीएफ ट्रीटमेंट सेंटर से। जहां पर इलाज करवा रहीं दर्जन भर से ज्यादा महिलाएं अपने पति नहीं बल्कि किसी और व्यक्ति के स्पर्म से प्रेग्नेंट हो गईं। यूट्रैक्ट यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर ने अपनी इस गलती को मानते हुए कहा है कि इससे अप्रैल 2015 से नवंबर 2016 के बीच इलाज कराने वाली महिलाएं प्रभावित हुई हैं।

हैरानी की बात यह है कि इस दौरान 26 महिलाओं का आइवीएफ ट्रीटमेंट हुआ है। इनमें से कुछ तो बच्चे को जन्म भी दे चुकी हैं और कुछ प्रेग्नेंट हैं। मेडिकल सेंटर ने इन सभी को सूचना दे दी है। सेंटर ने इस गलती के लिए बयान जारी कर माफी मांगी है।

बयान में कहा गया है, ‘फर्टिलाइजेशन के दौरान, एक कपल के स्पर्म सेल्स बाकी 26 कपल्स के एग सेल्स से मिल गए। इसलिए ऐसी आशंका है कि ये एग सेल्स किसी अन्य पुरुष के स्पर्म से फर्टिलाइज हो गए हों। हालांकि इसकी आशंका बेहद कम है लेकिन इससे इनकार नहीं किया जा सकता है।’

बता दें कि साल 2012 में सिंगापुर की एक महिला ने यह पता लगने पर कि उसके पति के स्पर्म को किसी अजनबी के स्पर्म के साथ मिला दिया गया है तो उसने आइवीएफ क्लिनिक पर केस कर दिया था। महिला को अपने बच्चे की स्किन टोन, बाल के रंग देख कर क्लिनिक पर शक हुआ था। [एजेंसी]