Facebook का बग ऐसे करता था आपका डाटा लीक!

फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग जहां अपने प्लेटफॉर्म को सुरक्षित बनाने की बात करते हैं। वहीं एक नई रिपोर्ट में फेसबुक के अंदर एक बग आने की बात कही है जो उपयोगकर्ता का संवेदनशील डाटा लीक करता पाया गया।

बग एक प्रकार का वायरस होता है। यह बग फेसबुक मैसेंजर की मदद से डाटा इस्तेमाल करने की इजाजत प्राप्त कर लेता। यहां तक कि ये बग टेक्स्ट चैटिंग तक की जानकारी भी प्राप्त कर लेता है। अब इसे फेसबुक ने ठीक कर लिया है।

इसकी जानकारी साइबर सिक्योरिटी कंपनी इंपेरेवा के शोधकर्ता रोन मासस ने अपने ब्लॉग पर दी। शोध के मुताबिक, उपयोगकर्ता का अतिसंवेदनशील डाटा फेसबुक के पास होता है और यह कंपनी जिम्मेदारी है कि वह डाटा की सुरक्षा करे।

बीते साल नवंबर में मासस और उनकी टीम ने इस फेसबुक मैसेंजर में बग की खोज की। यह बग ‌वेबसाइट उपयोगकर्ता की प्रोफाइल से डाटा लेने की इजाजत देता है। डाटा चुराने की यह प्रक्रिया क्रॉस साइट फ्रेम लीकेज से होती है जो साइड चैनल की मदद से होती है जो ब्राउजर आधारित एक यूजर करता है।

शोधकर्ता के मुताबिक, ब्राउजर आधारित kसाइड चैनलl को अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है जबकि इंटरनेट दुनिया के बड़े खिलाड़ी फेसबुक और गूगल उनमें से कुछ को पकड़ने में सफलता हासिल कर रहे हैं। गुरुवार को फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने बताया था कि वह अपने फेसबुक मैसेंजर को व्हाट्सएप की तरह सुरक्षित बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

मार्क जुकरबर्ग ने गुरुवार को दी जानकारी में कहा कि फेसबुक इस तरीके की मैसेजिंग सेवा शुरू करेगी जो पूरी तरह इनक्रिप्टेड होगी। इसमें इस तरह की सुरक्षा दी जाएगी कि उपयोक्ताओं की बातचीत को फेसबुक भी नहीं पढ़ सकेगा।

हालांकि उन्होंने न्यूजफीड और ग्रुप आधारित सेवाओं या इंस्टाग्राम में किसी तरह के बदलाव का संकेत नहीं दिया। जुकरबर्ग ने बुधवार को एसोसिएटेड प्रेस से एक साक्षात्कार में कहा, ‘यह ऐसा नहीं है कि अन्य सार्वजनिक सेवाएं बंद हो जाएंगी।