कुंभ मेला: माघी पूर्णिमा आज, संगम में स्नान के लिए उमड़े श्रद्धालु!

कुंभ मेला 2019 के पांचवें पर्व माघी पूर्णिमा पर स्नान के लिए दूर दराज से लाखों श्रद्धालू संगम में स्नान के लिए पहुंच गए हैं। संगम में स्नान के लिए सोमवार से ही श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा है। मेला प्रशासन ने इस पर्व पर एक करोड़ 60 लाख लोगों के स्नान का अनुमान लगाया है।

सोमवार को 70 लाख लोगों ने त्रिवेणी में डुबकी लगा ली और आज एक करोड़ से अधिक आस्थावानों के स्नान की उम्मीद जताई गई है। आठ किमी के क्षेत्र में 40 घाटों पर स्नान की तैयारियां की गई है।

मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने बताया कि सभी मजिस्ट्रेट और पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है। मजिस्ट्रेट को निर्देश दिए गए हैं कि वे आवश्यकतानुसार अतिरिक्त फोर्स भी ले सकते हैं। सभी जगह निगरानी की जा रही है।

सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ रखी गयी है। कुम्भ मेला-2019 के हर काम को वैज्ञानिक एवं सुव्यवस्थित तरीके से किया गया है। स्नानार्थियों, कल्पवासियों, संत-महात्माओं के लिए बेहतर अवस्थापना सुविधाएं सुनिश्चित की गई।

मेला क्षेत्र का विस्तार, सुधार और नवीन प्रयोग किया गया जिसके कारण मेला सकुशल, सुव्यवस्थित ढंग से हो रहा है। स्वच्छता और शौचालय पर विशेष ध्यान दिया गया। टेन्टेज, सड़क, बिजली, पेयजल, स्वास्थ्य सेवाएं, सुरक्षा एवं यातायात व्यवस्था, पुलिस मित्र की तरह पुलिस का व्यवहार, यात्री विश्रामालय, खोया-पाया केन्द्र का कम्प्यूटराइजेशन खास बातें रहीं। मेले से जुड़े सभी लोगों से सलाह एवं सुझाव लेते हुए मेले में व्यवस्था की गयी।

डीआईजी मेला केपी सिंह ने बताया कि पुलिस व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है और यातायात की विशेष निगरानी की जा रही है। माघीपूर्णिमा पर आने वाले स्नानार्थी अपने वाहन को निर्धारित पार्किंग पर ही खड़ा करें।

वाहनों के लिए पार्किंग का किया इंतजाम
शहर से मेला क्षेत्र में आने वाले वाहनों को प्लाट नंबर 17, पीपा वर्कशाप, गल्ला मंडी व दधिकांदों पार्किंग में पार्क किया जाएगा। नैनी की तरफ से आने वाले वाहनों को नवप्रयागम, देवरख पार्किंग में पार्क किया जाएगा।

झूंसी में वाराणसी व जौनपुर की ओर से आने वाले वाहनों को क्रमश: छतनाग, महुआबाग, चीनीमिल, पूरेसूरदासपुर व समयामाई पार्किंगों में पार्क किया जाएगा। लखनऊ व प्रतापगढ़ की ओर से आने वाले वाहनों को बेला कछार फाफामऊ पार्किंग में पार्क किया जाएगा।

तेलियरगंज, एलनगंज आदि इलाकों की तरफ से आने वाले वाहनों को बक्शी बांध, बड़ा बघाड़ा, कछार व गंगेश्वर महादेव कछार में पार्किंग किए जाने की सुविधा होगी