मध्यप्रदेश: संघ ने शाह को बताया, खतरे में है यह सीटें!


भोपाल। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव की कमान अपने हाथ में ले ली है। सभी 230 विधानसभाओं में भाजपा के विधायकों की स्थिति, दावेदारों की लोकप्रियता, भाजपा कार्यकर्ताओं का रुख और शिवराज सरकार का विरोध इत्यादि कई बिन्दुओं पर पिछले 3 महीने से लगातार जानकारी जुटाई जा रही थी। अब सारी सूचनाओं को आॅन टेबल किया जा रहा है। मालवा में भाजपा की स्थिति सबसे गंभीर बताई जा रही है।

यहां 48 में से 44 पर भाजपा का कब्जा है परंतु अब रिपोर्ट आई है कि सभी 44 सीटें खतरे में हैं। हाल ही में अमित शाह मालवा दौरे पर आए थे। तब इंदौर में उन्होंने पार्टी के विधान सभा विस्तारकों से बात की थी।

बताते हैं कि विस्तारकों ने सिटिंग एमएलए के ख़िलाफ जमकर बोला। ये तक कहा अगर इन्हें रिपीट किया गया तो बीजेपी बारह के भाव जाएगी। बताते हैं ये विस्तारक सीधे अमित शाह के लिए काम कर रहे हैं। इसलिए यह साफ़ है कि इनकी राय महत्वपूर्ण है।

सभी सीटों पर रायशुमारी
इधर पार्टी स्तर पर सभी सीटों पर रायशुमारी शुरू हो गई है। अमित शाह ने पार्टी पदाधिकारियों को सभी जिलों में भेजा है। वहां सभी विधानसभाओं के प्रमुख नेताओं से रायशुमारी की जा रही है। टिकट फाइनल करने से पहले यह जानने का प्रयास किया जा रहा है कि वो कौन है जिसे टिकट देने के बाद सबसे कम भितरघात होगा।