क्या आप भी अंधेरे में करते हैं स्मार्टफोन का इस्तेमाल, जान लें इसके प्रभाव

बच्चों से लेकर बड़ों तक के हाथ में स्मार्टफोन आम देखने को मिलता है। कुछ लोग तो देर रात अंधेरे में भी इसका इस्तेमाल करते है। अगर आप भी अंधेरे में स्मार्टफोन यूज करते हैं तो तुंरत इस आदत को छोड़ दें।

इससे आंखों और दिमाग पर बुरा असर पड़ता है। हाल में ही एक शोध में पाया गया है कि अगर हम रोजाना 30 मिनट भी अंधेरे में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आंखे ड्राई होती है जिससे रेटिना पर बुरा प्रभाव पड़ता है और आंखों की रोशनी कम होने लगती है।

अंधेरे में स्मार्टफोन इस्तेमाल करने के साइड इफेक्ट्स
आंखों में रेडनेस: रात देर तक टेबलेट या मोबाइल का इस्तेमाल करने से आंखों में रेडनस या ड्राईनेस की प्रॉब्लम हो सकती है।

नींद पूरी न होना: रात को सोने से पहले मोबाइल का इस्तेमाल करने से नींद में कमी होने लगती है। दरअसल, इससे रात में मोबाइल का यूज करने सेे मेलाटोनिन हार्मोन का लेवल कम होने लगता है जिससे नींद पूरी नहीं होती।

तनाव: अगर आप खुद को तनावग्रस्त महसूस करते हैं तो आज ही इस आदत को छोड़ दें। बॉडी में मेलाटोनिन हार्मोन बढ़ने से तनाव बढ़ता है।

थकान: देर रात तक स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने से नींद पूरी नहीं होती, जिससे दिनभर आप थका हुआ महसूस करते है।

ग्लूकोमा: अंधेरे में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने से ब्रेन तक सिग्नल ले जाने वाली ऑप्टिक तंत्रिका पर बुरा असर पड़ता है, जिससे ग्लूकोमा यानि की काले मोतिया की समस्या हो सकती है।

Share this...
Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on Twitter0