बिना मोजे के पहनते हैं जूते, तो यह जरूर पढ़ लें


आजकल एक नया फैशन चल रहा है, बिना मोजे के जूते पहनना। ये भले ही ट्रेंड बना हो या फैशन के लिहाज से बड़ा अच्छा हो लेकिन इसका नतीजा बुरा हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक बिना मोजे के जूते पहनना आपके त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं। मोजे के बगैर सिर्फ जूता पहनने से पैरों से निकलने वाला पसीना जूते के चमड़े में पहुंचता है।

इससे चमड़े में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। इस स्थिति में यदि उच्च नमी भी मिल जाए तो पैरों में न सिर्फ दुर्गध पैदा होती हैं, बल्कि फफूंद का संक्रमण भी हो जाता है। इस संक्रमण से पैरों में खुजली और बिवाई फटने जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं। मोजे के बिना जूते पहनने से पैरों में दुर्गध और एथलीट फुट या पैरों की दाद जैसी बीमारी के मामले बढ़ रहे हैं।

पोटाट्रियट कॉलेज के एम्मा स्टीवेन्सन के मुताबिक बिना मोजे के जूते पहनने से ये फंगल इंफेक्शन के पूरे चांसेस तो हैं लेकिन इस इंफेक्शन से बचने के लिए कुछ टिप्स अपना सकते हैं।

इसमें रातभर जूतों में टी-बैग्स रखना भी शामिल है जो कि जूते में मौजूद पसीने को सोख लेता है। एक अन्य ट्रिक है अपने पैरों में उसी एंटीपर्सपिरेंट का स्प्रे करें ताकि पसीने को कंट्रोल कर सके। विशेषज्ञों के मुताबिक, एक ही शूज रोजाना नहीं पहनना चाहिए।