ABVP को पछाड़ 4 साल बाद NSUI की वापसी, राहुल गांधी ने दी बधाई

नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (डुसू) चुनाव में 4 वर्षों के बाद कांग्रेस की छात्र इकाई भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर कब्जा जमाया है जबकि सचिव और संयुक्त सचिव के पद पर भारतीय जनता पार्टी की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने जीत हासिल की है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ के नए पदाधिकारीः अध्यक्ष- रॉकी तुसीद (एनएसयूआई)
उपाध्यक्ष- कुणाल सिंह रावत (एनएसयूआई)
सचिव- महामेधा नागर (एबीवीपी)
चुनाव सचीव- उमाशंकर(एबीवीपी)

नोटा का भी हुआ जमकर इस्तेमाल
एनएसयूआई के रॉकी तुसीद ने अध्यक्ष पर एबीवीपी के रजत चौधरी 1590 वोटों से हराया। एनएसयूआई को अध्यक्ष पद पर 16299 वोट मिले हैं जबकि एबीवीपी को 14709 मिले। छात्रों ने नोटा का भी जमकर इस्तेमाल किया। अध्यक्ष पद के चुनाव में 5162 वोट नोटा पर पड़े। उपाध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के कुणाल सहरावत को 16431 वोट मिले हैं

जबकि एबीवीपी के पार्थ राणा को 16256 तथा नोटा पर 7684 वोट पड़े। सचिव पद पर एबीवीपी के महामेधा नागर को 17156 वोट मिले हैं जबकि एनएसयूआई की मीनाक्षी मीणा को 14352 तथा नोटा के पक्ष में 7891 वोट मिले हैं। इसके अलावा संयुक्त सचिव के पद पर एबीवीपी के उमाशंकर को 16691, एनएसयूआई के अविनाश यादव को 16349 वोट मिले हैं।

छात्र संघ के लिये कल मतदान हुआ था। मतदान में कुल 1.32 लाख छात्रों में से 42.8 प्रतिशत छात्रों ने वोट डाले थे। राहुल ने दी बधाई
वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (डुसू) के चनाव में कांग्रेस की छात्र इकाई भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) की शानदार जीत पर बधाई देते हुए कांग्रेस की विचारधारा में छात्रों का विश्वास करार दिया है।

अमेरिका की यात्रा पर गए राहुल गांधी ट्वीट कर कहा कि डुसू चुनाव में एनएसयूआई ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अध्यक्ष पद जीत हासिल किया है। उन्होंने छात्रों को धन्यवाद देते हुए एनएसयूआई की जीत को कांग्रेस की विचारधारा में छात्रों के विश्वास को दर्शाती है।